मानस पटल . मानस पटल .
0 78.658312

no images yet

SHARE WITH OTHERS
See new updates

मानस पटल .

Latest Updates

Must know

   Over a month ago
SEND

Must know

   Over a month ago
SEND

Must know

   Over a month ago
SEND

amajing technique

   Over a month ago
SEND

Must see

   Over a month ago
SEND

"sorry"
कितना आसान सा शब्द है ...है ना?? लेकिन इसका अर्थ क्या है??
"खेद / दुःख प्रकट करना" ......हम्म ?? .........तो फिर ...इसका उपयोग कहा कर सकते है ?? ....वहाँ जहाँ प्रकृति ही निराश थी और आपके नियंत्रण से बहार की बात हैं या फिर कुछ आप से ऐसा हो गया जो की आप की इच्छा से नहीं था यानि आप की जानकारी उस क्रिया /विषय नहीं थी !! ...अर्थात आपने जानबूझ के नहीं किया .....! और आप उस जगह पर ये अनुभव/ महसूस करते हैं की ...यार ...ये तो बड़ी गलती हो गयी ...मै आज के बाद ये गलती नहीं करूँगा / करुँगी ..मेरा विश्वाश कीजिये ! ..मै आज से अपनी आदतों में इस बात का सुधार का आश्वासन देता/देती हूँ और मुझे कोई सजा ना दें !! ....ध्यान रहे ! ये शब्द आप केवल एक बार ही प्रयोग कर सकते हैं !! वो भी तब जब आपके कृत्य से उपजित क्षति की भरपाई ...आपके अनुमान से हो सकती है और सम्भव है !

यदि स्थिति इसे विपरीत हो तो ...??

..यानि ऐसी गलती जो आपने जानकारी रहते हुए की हो ...और कुछ देर आप इससे अनविज्ञ रहे ...फिर आपको बोध हुआ की मैंने जो किया वो कुछ अनियंत्रित हो रहा है ...यानि जितना चाहते थे उससे ज्यादा नुक्सान हो गया .....मतलब आपका अनुमान गलत साबित हुआ ....!... तब??? आपको अत्यंत दुःख हुआ और आपने ये भी देख लिया की इस नुक्सान की भरपाई सम्भव नहीं है .....तो उस ग्लानि को ...कैसे व्यक्त करें ??....और आपने अपने आप को कष्ट देने की सोची ..तो शब्द प्रकट है "प्रायश्चित " जिसे अंग्रेजी में कहते हैं "PENANCE"
.
अब अगर आप सहमत हैं ! तो अपना मूल्यांकन करें ....और अपना व्यक्तित्व बदलें !!

.
सौजन्य से आपका अपना -
मेजर बिपिन परमार

   Over a month ago
SEND

nice creation

   Over a month ago
SEND